दारुल उलूम देवबंद आतंक का गढ़, हाफिज सईद और बगदादी जैसे लोगो ने ली है शिक्षा- गिरिराज सिंह

0
29

सहारनपुर: मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री गिरीराज सिंह ने बुधवार को विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद पर आरोप लगाते हुये कहा की दारुल उलूम देवबंद आतंक का मंदिर है जहाँ से हाफिज सईद और बगदादी भी शिक्षा ले चुके है।

गिरीराज सिंह देवबंद के स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती से भेट करने उनके देवी कुंड स्थित आश्रम पहुंचकर कहा की, “गुरुकुल से आज तक कोई भी लड़का आतंकी नहीं निकला, लेकिन देवबंद को लोग शिक्षा का मंदिर कहते हैं। लेकिन पता नहीं यह शिक्षा का मंदिर है या आतंक का।” गिरीराज ने आगे कहा की, मुझे पता चला है की हाफिज सईद जैसे आतंकी लोग और इस्लामिक स्टेट के संस्थापक बगदादी दोनों यहीं से पढ़े है। दारुल उलूम शिक्षा का मंदिर नहीं हो सकता है। यह आतंक का गढ़ है।

आयोध्या में राम मंदिर बनने को लेकर गिरिराज सिंह ने कहा की, हिन्दू समाज के धैर्य की परीक्षा न ले मुस्लमान, उदहारण देते हुए कहा की जब देश में 30 लाख मस्जिदें बन सकती हैं तो अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर बनने में क्या आपत्ति है। आयोध्या में राम मंदिर निर्माण देश के सवा सौ करोड़ हिन्दुओं की आस्‍था का विषय है। मुसलमानों को यह समझना चाहिए और रामजन्म भूमि पर मंदिर निर्माण में रुकावट पैदा नहीं करनी चाहिए।

कांग्रेस पर धर्म की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा की, जैसे सरदार वल्लभ भाई पटेल ने सोमनाथ का मंदिर बनाया था उसी तरह अगर नेहरू ने काशी, मथूरा अयोध्या बनाया होता तो आज देश के हिन्दू- मुसलमानों के बीच एक नफरत की यह दीवार न खड़ी होती।

गिरीराज सिंह ने देश में बढ़ती जनसँख्या को विकास में रुकावट का जिम्मेदार बताया। कहा अगर इसी तरह देश में जनसंख्या बढ़ती रही तो देश के लोगों को पानी भी मिलना मुश्किल हो जायेगा।

loading...