Coronavirus से निपटने के लिए PM नरेंद्र मोदी ने किया 15 हजार करोड़ रुपये के प्रावधान का ऐलान

नई दिल्ली: देशभर में लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा की आज (24 मार्च) रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन किया जा रहा है। देश में यह लॉकडाउन पुरे 21 दिन के लिए होगा।

संबोधन के दौरान PM मोदी ने कहा की यह संपूर्ण लॉकडाउन एक तरह का कर्फ्यू ही है। संपूर्ण लॉकडाउन दौरान देश में सभी जरूरी सेवाएं जारी रखी जाएँगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘अगर इन 21 दिन आप नहीं संभले तो देश 21 साल पीछे चला जाएगा. बाहर निकलना क्‍या होता है, यह 21 दिन के लिए भूल जाइये. घर पर ही रहें. मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं.’ पीएम मोदी ने कहा कि मैं यह बात परिवार के सदस्‍य के तौर पर कह रहा हूं. इसमें लिखा है, को-कोई, रो-रोड पर, ना- न निकले.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ लोगों की लापरवाही, कुछ लोगों की गलत सोच, आपको, आपके बच्चों को, आपके माता पिता को, आपके परिवार को, आपके दोस्तों को, पूरे देश को बहुत बड़ी मुश्किल में झोंक देगी. पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन कर दिया गया है. राज्य सरकार के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए. आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं हाथ जोड़कर कह रहा हूं जो भारतीय जहां है, वहीं रहे.’ उन्‍होंने कहा कि कोरोना से लड़ने का सबसे बड़ा उपाय उन देशों से सीख है, जिन्‍होंने इससे निपटने के लिए अहम कदम उठाए। 24 घंटे काम कर रहे मीडिया, डॉक्‍टरों, पुलिसकर्मियों और जरूरी सेवाएं दे रहे सभी लोगों के बारे में सोचिये जो घर परिवार से दूर जान जोखिम में डालकर अपना कर्तव्‍य निभा रहे हैं. उनके लिए प्रार्थना कीजिये।

पीएम मोदी ने कहा, ‘केंद्र सरकार ने 15 हजार करोड़ रुपये का ऐलान किया है. इससे देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के सभी संसाधन जुटाए जाएंगे. सभी सुविधाएं और सेवाएं बढ़ाई जाएंगी. सभी राज्‍य सरकारों से मैने अनुरोध किया है कि उनकी पहली प्राथमिकता स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं ही हों.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी. लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है.’ उन्‍होंने कहा, ‘आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण की साइकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है।’

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 500 के ऊपर पहुँच चुकी है। मंगलवार सुबह तक आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना वायरस के कुल 492 मामले सामने आए थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया था कि इन आंकड़ों में 41 विदेशी नागरिक शामिल है और अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है।

Check Also

हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा के लिए ओवैसी ने मोदी-ट्रंप की दोस्ती पर उठा दी ऊँगली, कह दी ऐसी बात !

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा भारत को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन दवाओं के लिए धमकी देने …