गोरखपुर में धरना दे रहे सांसद को पुलिस ने लाठियों से पीटा- देखे VIDEO

0
262
Loading...

उत्तर प्रदेश (गोरखपुर): अनुसूचित जाति के लोगो को आरक्षण लाभ देने की मांग को लेकर सपा तथा निषाद पार्टी के सांसद प्रवीण निषाद तथा अन्य कार्यकर्ता द्वारा गुरूवार को प्रदर्शन करने के दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। जिसके बाद शुक्रवार 8 मार्च, 2019 को सांसद प्रवीण निषाद तथा कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा पीटने के विरोध में अलग अलग जगह प्रदर्शन किये गए।

समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने लक्ष्मीबाई पार्क पर प्रदर्शन कर सिटी मजिस्ट्रेट को अपना ज्ञापन सौंपा। उन्होंने इस लाठीचार्ज की उच्चस्तरीय जांच की मांग की। सांसद प्रवीण निषाद ने कहा की, “हम समाजवादी लोग हैं। हम निषाद पार्टी के लोग हैं और हम बसपा के लोग हैं हम योगी नहीं हैं, हम संसद में आंसू नहीं बहाएंगे। हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे।”

निषाद ने आगे कहा, ‘मुख्यमंत्री ने गोरखनाथ मंदिर में छोटा सीएम कार्यालय बना रखा है। हम शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे और अपना ज्ञापन सौंपने का प्रयास कर रहे थे लेकिन पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। यह मुख्यमंत्री का शहर है। जब संसद सदस्य ही सुरक्षित नहीं है तो नागरिक क्या सुरक्षित रहेंगे।’ गोरखपुर के सपा जिलाध्यक्ष तथा नगर अध्यक्ष ने भी सांसद तथा कार्यकर्ताओ पर पुलिस कार्रवाई की आलोचना की।

इस घटना के बारे में निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद तथा सांसद निषाद के पिता संजय निषाद ने दावा करते हुए कहा की वे लोग शांतिपू्र्वक मार्च कर रहे थे जब पुलिस ने उन लोगो पर लाठीचार्ज किया। वही इस घटना पर गोरखपुर के एसएसपी सुनील गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया की, पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया।

एसएसपी सुनील गुप्ता ने आगे कहा, “जिला प्रशासन ने निषाद पार्टी को सिर्फ रैली करने की परमिशन दी थी। मगर भीड़ ने इसके बजाय विरोध मार्च निकाला। हमने उन्हें आगे जाने से रोकने की कोशिश की लेकिन वे लोग हमारी बात नहीं सुनी। प्रदर्शनकारी अचानक हिंसक हो गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इस पर पुलिस को हालात काबू में लाने के लिए हल्के बल का सहारा लेना पड़ा।” एसएसपी के जानकारी के मुताबिक, चार पुलिसकर्मी पथराव की वजह से घायल हुए है। लेकिन इस घटना में सांसद या अन्य किसी के घायल होने की सुचना नहीं है।

Loading...