पुलिस जवानों ने गर्भवती महिला को चारपाई पर उठाकर पहुंचाया अस्पताल, गेट पर महिला ने बच्चे को दिया जन्म

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के लेमरू वन क्षेत्र में बसे बिलासपुर और सरगुजा संभाग के बीच बस्तियों के लोग आज भी स्वास्थ्य सेवाएं और सड़क से वंचित हैं। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां बीमार पड़े हुए लोगों को अस्पताल तक पहुंचने के लिए कांवर या खाट में लाद कर पैदल ही लंबी दूरी तय करनी पड़ती है।

इसी क्रम में लेमरू पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले छाता बाहर की रहने वाली सुनीता बाई को प्रसव पीड़ा शुरू हुई जिसके बाद घरवालों ने 112 डायल कर सूचना दी। सूचना मिलने पर क्यूआरवी टीम के साथ पुलिसकर्मी चंद्रप्रकाश और संदीप मौके के लिए रवाना हुए।

लेकिन रास्ता आगे ना होने की वजह से नदी से पहले ही उन्हें अपनी गाड़ी रोकनी पड़ गई। किसी तरह पैदल चलकर गांव पहुंचे गर्भवती महिला को खाट में लादकर किसी तरह गाड़ी पर लाए। परसाभाटा उप स्वास्थ्य पहुंचते ही गर्भवती महिला ने अस्पताल के गेट पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। फ़िलहाल जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ बताये गए है।

पुलिसकर्मियों की इस सराहनीय कदम से महिला के परिजन काफी खुश हैं उन्होंने पुलिस टीम को धन्यवाद भी दिया। पुलिस द्वारा इस सराहनीय कदम की चारों तरफ तारीफ हो रही है।

Check Also

वाराणसी: मास्क के लिए टोकने पर भाजपा नेता और बेटों ने दरोगा-सिपाहियों को पीटा

वाराणसी: ऐसा लग रहा है जैसे पुलिस का डर ही लोगों के जेहन से खत्म …