‘UP पुलिस पर प्रियंका गांधी का गंभीर आरोप, गाड़ी रोककर पुलिस ने मुझे धकेला, मेरा गला दबाया- देखे वीडियो’

लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रदेश मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से भेंट करने के बाद नागरिकता कानून के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शन मामले में गिरफ्तार हुए दारापुरी के परिवार से मुलाकात करने के लिए जैसे ही निकली की पुलिस ने उन्हें रास्ते में रोक लिया। वहीं प्रियंका गांधी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने उन्हें घेरा और उनका गला भी दबाया है।

दारापुरी के परिवार वालों से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए प्रियंका ने कहा कि, “जब मैं दारापुरी जी के परिवार से मिलने जा रही थी तभी यूपी पुलिस ने मुझे रास्ते में रोक लिया एक पुलिस वाले ने मेरा गला भी दबाया। उसके बाद मैं पार्टी कार्यकर्ता की दोपहिया वाहन पर सवार होकर जा रही थी तो भी पुलिस वाले ने मुझे घेरा जिसके बाद मैं किसी तरह वहां पहुंची।”

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह ने कहा कि लोहिया चौराहा के पास पुलिस ने प्रियंका के वाहन को रोक लिया जब उन्होंने इसका विरोध किया और पूछा कि आखिर उन्हें किस लिए रोका जा रहा है उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। वहीं प्रियंका ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह मेरी सुरक्षा का नहीं बल्कि योगी की पुलिस का मामला है। जिसके बाद प्रियंका पैदल ही चल पड़ी फिर बाद में पार्टी के कार्यकर्ता की दो पहिया वाहन पर बैठकर प्रियंका ने पुल को पार किया। फिर गाड़ी में बैठकर दारापुरी के परिजनों से मिलने गई।

दरअसल लखनऊ के प्रेस क्लब में दारापुरी के नेतृत्व में 4 से 5 दलित हितैषी संगठन की प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी। जिसको पश्चिमी शहर के पुलिस अधीक्षक विकास चन्द्र त्रिपाठी ने शांति भंग की आशंका का हवाला देकर दारापुरी को गिरफ्तार कर लिया था।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …