राहुल गांधी ने किया मोदी सरकार से सवाल, शून्य से भी नीचे हो गई है कच्चे तेल की कीमत, कब सस्ते होंगे पेट्रोल डीजल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ निशाना साधा है। दरअसल मंगलवार को राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि इस स्थिति में भी पेट्रोल 69 रुपये और डीजल 62 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा है।

राहुल गांधी ने सवाल किया कि पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने की मांग पर सरकार क्यों ध्यान नहीं दे रही है? इस मामले को लेकर राहुल गांधी ने एक ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘‘दुनिया में कच्चे तेल की कीमतें अप्रत्याशित आंकड़ों पे आ गिरी हैं, फिर भी हमारे देश में पेट्रोल 69 रुपये, डीजल 62 रुपये प्रति लीटर क्यों है? इस विपदा में जो दाम घटे, सो अच्छा। कब सुनेगी ये सरकार?’’

पहले भी कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा था कि, आपदा की इस घड़ी में सरकार को आम उपभोक्ताओं को राहत देनी चाहिए। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘तेल की कीमतों में अचानक अप्रत्याशित कमी का आना एक ऐतिहासिक मौका है। इतनी कमी कि वह शून्य से भी नीचे जा पहुंचा। एक बार तो ऐसा क्षण आया कि दाम शून्य से 37 डॉलर नीचे चला गया। इसका कारण है कि अमेरिका में इस कच्चे तेल का कोई खरीददार नहीं हैं।’’

खेड़ा ने इस दौरान कहा कि, ‘‘ सरकार ने पिछले छह सालों में पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क लगाकर 20 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं। सवाल यह है कि आप इस फायदे को उपभोक्ता के साथ क्यों बांट नहीं सकते? वह राहत आम उपभोक्ता को क्यों नहीं दे सकते?’’

पवन खेड़ा ने मोदी सरकार से अनुरोध किया है कि इस मुश्किल दौर में आम लोगों को राहत देनी चाहिए। काफी समय से कांग्रेस मोदी सरकार पर ये आरोप लगाती आ रही है कि कच्चे तेल की कीमतों में लगातार आ रही गिरावट का फायदा सरकार अकेले उठा रही है। कांग्रेस का कहना है कि इस गिरावट के चलते सरकार को जो फायदा हो रहा है उसे आम आदमी के साथ साझा करना चाहिए।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …