राहुल गांधी ने कहा, कोरोना के संकट के चलते देश को धर्म जाति और वर्ग आधारित मतभेदों को भुलाकर एकजुट होना चाहिए

सोमवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि, कोरोना के संकट के बीच देश को धर्म, जाति और वर्ग आधारित मतभेदों को भुलाकर एकजुट होने का मौका है। राहुल ने आगे भी कहा कि देश एकजुट होकर इस महामारी को पराजित करेगा। राहुल गांधी ने अपने एक ट्वीट में लिखा, ”कोरोना संकट भारत के लिए एक ऐसा मौका है जिसमें लोग अपने धर्म, जाति एवं वर्ग के मतभेदों को पीछे छोड़कर एकजुट हों और इस खतरनाक वायरस को पराजित करें।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, ” करुणा, संवेदना और त्याग इस सोच की बुनियाद हैं। हम साथ मिलकर इस लड़ाई को जीतेंगे।” उधर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर सरकार से आग्रह किया कि कोरोना की व्यापक स्तर पर जांच की जाए। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ”कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का एकमात्र रास्ता ज्यादा से ज्यादा जांच है। तभी हम संक्रमित व्यक्ति का उपचार कर सकते हैं। ”

उन्होंने कहा, ”ज्यादा से ज्यादा जांच करो, फिर उपचार करो-यही हमारा मंत्र होना चाहिए। आप सबसे मेरी गुज़ारिश है कि ज्यादा जांच के लिए आवाज उठाइए।” आपको बता दें कि देश में कोरोना वायरस के कुल 4067 मामले सामने आए हैं। जिनमे से कुल 291 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि 109 लोगों की मौत हो चुकी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह जानकारी दी।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …