राहुल गांधी ने कहा: यह समय मोदी से लड़ने का नहीं, बल्कि Coronavirus से जंग का है, पीएम मोदी को हम बाद…

भारत में Coronavirus संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है, जिसको लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस मसले पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि, ‘ये कोरोना से लड़ने का समय है, सरकार से लड़ने का नहीं’। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कई बातों से असहमत रहता हूं लेकिन आज बात कोरोना से लड़ाई की है। उनहोंने कहा कि, यदि आज हम एक-दूसरे से लड़ेंगे तो देश कोरोना से हार जाएगा।

राहुल गांधी ने मोदी सरकार को सुझाव देते हुए कहा कि, हमें अर्थव्यवस्था के स्तर पर तैयार रहना चाहिए। गरीबों के सामने अनाज का संकट आने वाला है। ऐसे में उन्हें आनाज मुहैया कराया जाना चाहिए। बेरोजगारी बढ़ रही है। इसका समाधान ढूंढना चाहिए। इसके साथ ही सूक्ष्म-लघु उद्योगों के लिए पैकेज की व्यवस्था की जानी चाहिए। साथ ही बड़े कंपनियों को मदद करनी चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि, पिछले 2 महीने में मैंने कई एक्सपर्ट्स से बात की है, लॉकडाउन सिर्फ एक पॉज बटन है ये कोरोना संकट का सॉल्यूशन नहीं है। जब लॉकडाउन से बाहर आएंगे, तो इसका असर फिर दिखना शुरू हो जाएगा। लॉकडाउन सिर्फ आपको एक वक्त देगा ताकि आप तैयारी कर सको।

उन्होंने कहा कि मैं आरोप-प्रत्यारोप में नहीं पड़ना चाहता। चाहता हूं देश एकजुट होकर इससे लड़े। कोरोना से लड़ाई राज्य और जिले के स्तर पर है। केरल का उदाहरण देते हुए राहुल ने कहा कि निचले स्तर पर ठीक काम हुआ। राहुल ने बोला कि लड़ाई नीचे से ऊपर की है। पीएम को चाहिए कि वह राज्यों के फंड का ध्यान रखें।

राहुल ने कहा कि, कोरोना को हराने के लिए टेस्ट की संख्या को बढ़ाना होगा और वायरस से आगे रहकर काम करना होगा। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को टेस्टिंग के लिए एक रणनीति बनानी होगी, ताकि कहीं पर भी कोई कोरोना पीड़ित व्यक्ति ना बच पाए।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …