राम जन्मभूमि अयोध्या पहुंचा कोरोना, सामने आया पहला मामला 25 वर्षीय प्रेग्नेंट महिला कोरोना संक्रमित

उत्तर प्रदेश: रामनगरी अयोध्या से भी कोरोना का पहला मामला सामने आ गया है। यहां एक गर्भवती महिला के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की गई है। अयोध्या में कोरोना का पहला मामला आने से जिला प्रशासन पूरी तरह से एक्टिव हो गया है। अयोध्या के थाना कोतवाली क्षेत्र के दर्शननगर की रहने वाली एक गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए संजाफी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था, जहां एक प्राइवेट पैथोलॉजी लैब की जांच में महिला की रिपोर्ट कोरोना वायरस पॉजिटिव आई है। जिसके बाद महिला को पड़ोसी जनपद सुल्तानपुर भेजा गया है, फ़िलहाल वहां आइसोलेट कर उपचार किया जा रहा है।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि, महिला ने किसी बाहरी व्यक्ति के संपर्क में आने की पुष्टि नहीं की है। उन्होंने कहा कि महिला के ससुराल व मायके वालों को क्वारंटाइन किया गया है। इसके साथ ही, महिला का उपचार करने वाले डॉक्टरों व स्टॉफ को भी क्वारंटाइन किया गया है और अस्पताल को भी सील कर दिया गया है।

abp गंगा छपी खबर के अनुसार, कोरोना पॉजिटिव पाई गई 25 वर्षीय प्रेग्नेंट महिला ग्राम सनेथू थाना पूराकलंदर की रहने वाली है। महिला का संजाफी हॉस्पिटल में उपचार चल रहा था। वो 19 अप्रैल को इलाज के लिए यहां आई और फिर 22 अप्रैल को दोबारा हॉस्पिटल गई। जहां सरकार द्वारा परमिशन प्राप्त एक प्राइवेट लैब में उसका कोरोना टेस्ट किया गया। 23 तारीख की शाम को जब रिपोर्ट आई, तो उसको महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई।

जिसके बाद महिला को कोविड-19 अस्पताल पहुंचाया गया और उसके परिवारवालों को भी तुरंत क्वारंटाइन के लिए भेज दिया गया। जिस अस्पताल में महिला का इलाज चल रहा था, वहां के सभी चिकित्सकों और स्टाफ को भी क्वारंटाइन पर भेज दिया गया। और अस्पताल को भी सील कर दिया गया है। जब तक सभी चिकित्सकों की रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आ जाती, तब तक हॉस्पिटल सील रहेगा और जिस गांव में महिला रही थी, उसे भी सील कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि महिला बिल्कुल ठीक है। उसके गांव में प्रत्येक घर में सेनेटाइजेशन का काम कराया गया है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …