राफेल पर जंग ने पकड़ी रफ़्तार- राहुल गांधी ने मोदी से मांगे 15 मिनट बहस करने का समय

0
310

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को मिले अनुबंध को लेकर देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर जोरदार हमला बोला है। राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर ‘झूठ बोलने’ का आरोप लगाते हुए कहा की, निर्मला सीतारमण ने संसद में झूठ बोला है राहुल ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा की, “रक्षा मंत्री ने पहले कहा था कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को 1 लाख करोड़ रुपये दिए गए थे, हमने उन्हें चुनौती दी और आज उन्होंने कहा कि 26,570.80 करोड़ रुपये एचएएल को दिए गए, निर्मला सीतारमण जी ने संसद में झूठ बोला है।”

उन्होंने कहा की ‘‘मेरा फिर से सवाल है कि जब नरेंद्र मोदी ने राफेल विमान खरीद के लिए नया सौदा किया था तो क्या रक्षा मंत्रालय एवं वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रधानमंत्री के दखल पर आपत्ति जताई थी या नहीं?’’ फिर कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी और निर्मला सीतारमण से सवाल कर कहा की, “आज निर्मला सीतारमण ने संसद में झूठ बोला। मैं फिर से रक्षा मंत्री और पीएम मोदी से अनुरोध कर रहा हूं कि वे जवाब दें “क्या वायु सेना और रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने राफेल सौदे में आपके हस्तक्षेप पर आपत्ति जताई थी?” कृपया “हां या नहीं” में जवाब दें।”

फिर राहुल ने पत्रकारों के माध्यम से पूछा की, ‘‘हम सीतारमण जी और मोदी जी से पूछना चाहते हैं कि जब आपने 126 विमान की खरीद वाला सौदा बदला तो वायुसेना एवं रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने आपके दखल पर आपत्ति जताई थी? हां या ना?’’ उन्होंने आगे कहा की दसाल्ट कंपनी ने अभी तक एक भी विमान की डिलीवरी नहीं की है। लेकिन सरकार ने दसाल्ट कंपनी को 20 हजार करोड़ रुपये पहले ही दे दिए। वही हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने विमान, हेलीकॉप्टरों की डिलीवरी दे दी है। लेकिन उसके 15,700 करोड़ रुपये के बकाये को अभी तक नहीं दिया गया है।

राहुल ने आगे कहा की, ‘‘देश के चौकीदार डरे हुए हैं। वह लोकसभा में आने से डरते हैं। मोदी के साथ मेरी 15 मिनट की डिबेट कराइए। पूरे देश को पता लग जाएगा कि क्या हुआ था। वह नहीं आएंगे क्योंकि चौकीदार ने ही चोरी कराई है।’’ गौरतलब है कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि, “मुझे एचएएल से पुष्टि मिली है कि 2014-18 के दौरान 26,570.80 करोड़ रुपये के अनुबंध पहले ही एचएएल के साथ हस्ताक्षर किए जा चुके हैं। 73,000 करोड़ रुपये मूल्य के ऑर्डर पाइपलाइन में हैं” जिसके बाद “कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनौती को लेते हुए, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि उनके संसद में बयान गलत और भटकाने वाला है।”

Loading...