देश में मचा बवाल: मुंबई के बाद राजधानी दिल्ली में उड़ी लॉकडाउन की धज्जियां, यमुना किनारे इकठ्ठा हुए हज़ारों मजदूर

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन की समयसीमा बढ़ाने के बाद राजधानी दिल्ली में हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर यमुना किनारे जमा हो गए। इससे पहले मंगलवार को मुंबई में बांद्रा टर्मिनल के बाहर भी प्रवासी मजदूरों की ऐसी ही भीड़ देखने को मिली। जानकारी के मुताबिक, इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जुटने की जानकारी के बाद पुलिस और प्रशासन के कई अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। जिसके बाद इन लोगों को दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम ले जाने की तैयारी की जा रही है।

इस मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट किया और कहा, यमुना घाट पर मजदूर इकठ्ठा हुए। उनके लिए रहने और खानेे की व्यवस्था कर दी है। उन्हें तुरंत शिफ्ट करने के आदेश दे दिए हैं। रहने और खाने की कोई कमी नहीं है। किसी को कोई भूखा या बेघर मिले तो हमें जरूर बताएं।

मंगलवार को मुंबई में भी उड़ी थी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
मंगलवार को महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के बांद्रा इलाके में हजारों प्रवासी मजदूर सड़कों पर उतर आए थे। जोकि अपने अपने घर वापस जाने की मांग कर रहे थे और भोजन की समस्या बता रहे थे। जिसके बाद महाराष्ट्र प्रशासन की व्यवस्था पर भी कई लोगों ने सवाल उठाए। हालांकि बाद में पुलिस ने बल प्रयोग कर इनको तितर-बितर कर दिया था।

भीड़ को जुटाने के पीछे अफवाह फैलाने वाले आरोपी विनय दुबे नाम के शख्स को पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद विनय पर ऐपिडेमिक डिसीज ऐक्ट की धारा 3 और आईपीसी की धारा 117, 153 ए, 188, 269, 270, 505 (2) के तहत कार्रवाई की गई गई है। आरोपी विनय दुबे को 21 अप्रैल तक के लिए पुलिस कस्टडी में रखा जायेगा।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …