सीलमपुर हिंसा: 12 पुलिसकर्मी सहित 21 लोग घायल, बसें मोटरसाइकिल व पुलिस बूथ फूंके

नई दिल्ली: इस समय पूरा देश मोदी सरकार के CAA और NRC को लेकर नारे बाज़ी कर रहा है। दिल्ली के जामिया नगर में हुई बड़ी हिंसा के बाद पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद-सीलमपुर इलाके में भी मंगलवार को हिंसा हुयी। इस हिंसा में कुल 21 लोग घायल हुए है। जिसमे 12 दिल्ली पुलिसवाले 3 आरएएफ जवान और 7 आम जनता शामिल है।

वही दिल्ली पुलिस ने हिंसा के बाद 2 केस दर्ज कर फिलहाल 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। जॉइन्ट सीपी ईस्टर्न रेंज आलोक कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि मंगलवार दोपहर जाफराबाद- सीलमपुर में लगभग दो हजार लोग इकट्ठा हुए। प्रदर्शनकारियों ने सीलमपुर पॉइंट से जाफराबाद पॉइंट के बीच पथराव के साथ आगजनी भी की है।

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता एसीपी अनिल मित्तल ने जानकारी देते हुए बताया की प्रदर्शन में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, दंगा फैलाने, शांति भंग करने की धाराओं के तहत दो अलग-अलग मामले दर्ज किये गए है। एक मामला सीलमपुर तथा दूसरा मामला जाफराबाद थाने में दर्ज हुआ है।

दिल्ली पुलिस के अनुसार, शुरुआत के समय कुछ लोग शांतिपूर्ण ढंग से विरोध प्रदर्शन कर वापस लौट रहे थे लेकिन बीच में कुछ शरारती तत्वों ने शामिल होकर अचानक पथराव करना शुरू कर दिया। देखते-देखते हालात बेकाबू होते चले गए। जिसके बाद दिल्ली पुलिस कमिश्नर की रिजर्व फोर्स के अलावा 5 अतिरिक्त कंपनियों के लगभग 300 जवानों को भी मौके पर बुलाया गया। हिंसा पर उतरी भीड़ ने तब तक दो बसें, तीन मोटरसाइकिलों तथा दो पुलिस बूथ को आग के हवाले कर दिया था।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …