2004 ग्रेनेड हमले में बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के बेटे को सुनाई गई उम्रकैद की सजा

0
86

21 अगस्त, 2004 को अवामी लीग की एक रैली के दौरान किये गए ग्रेनेड हमले में बुधवार को बांग्लादेश की एक अदालत ने ऐतिहासिक फैसला देते हुये 19 लोगों को मौत की सजा और पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया के बेटे तारिक रहमान समेत 19 लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। उस हमले में विपक्षी पार्टी की प्रमुख रहीं शेख हसीना सहित करीब 500 लोग घायल हुये थे और 24 लोगो की मौत हुई थी।

जांच में पता चला की BNP के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रहमान सहित बीएनपी नीत सरकार के प्रभावशाली धड़े ने आतंकवादी संगठन हरकतुल जिहाद अल इस्लामी के आतंकवादियों से यह हमला कराने की स्कीम बनाई थी और हमले को प्रायोजित किया था। आपको बतादे की पूर्व गृह राज्य मं‍त्री लुत्फोजमां बाबर उन 19 लोगों में शामिल है, जिन्हें बांग्लादेश की एक कोर्ट ने बुधवार को मौत की सजा सुनाई है। तथा लंदन में देश निकाला में रह रहे BNP के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रहमान और 18 अन्य को उम्रकैद की सजा सुनाई गई।

यह हमला 21 अगस्त, 2004 को अवामी लीग की एक रैली के दौरान किया गया था इस हमले में बांग्लादेश की तत्कालीन प्रधानमंत्री हसीना को टारगेट किया गया था। हसीना इस हमले में बच तो गयी लेकिन उनके सुनने की क्षमता को नुकसान हुआ था।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...