‘ई-पास लेकर पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा बेटा, बॉर्डर पर हार्टअटैक से बुजुर्ग पिता की हो गई मौत’

छत्तीसगढ़ कोरिया जिले के घुटरी टोला बैरियर पर ई-पास दिखाने के बावजूद ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों द्वारा बैरिकेड नहीं खोलें पर एक बुजुर्ग की मौत का मामला सामने आया है। निलेश मिश्रा ने बताया कि वह बीमार पिता को दिखाने के लिए मनेंद्रगढ़ आमाखेरवा में एसईसीएल अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन पुलिस घुटरी टोला पर ई-पास देखने के बाद भी नहीं जाने दिया।

हालांकि पुलिसकर्मी से बीमार बुजुर्ग ने भी गाड़ी से उतरकर हाथ जोड़कर आगे जाने की विनती की, लेकिन पुलिसकर्मियों ने बैरिकेड नहीं खोला। करीब डेढ़ घंटे चली बहस के बाद बुजुर्ग कार में ही हार्ट अटैक आने के बाद मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार, निलेश मिश्रा मध्य प्रदेश के उमरिया के रहने वाले हैं जो कोरबा स्थित एसईसीएल में मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। मंगलवार को अपने भाई और मां के साथ अपने पिता केशव प्रसाद मिश्रा को इलाज के लिए बिलासपुर ले जा रहे थे। लेकिन रास्ते में अचानक तबीयत बिगड़ने पर वह मनेंद्रगढ़ आमाखेरवा में एसईसीएल अस्पताल में दिखाने के लिए निकल पड़े। लेकिन घुटरी टोला बैरियर पर पुलिसकर्मियों ने आगे नहीं जाने दिया। अंत में निलेश के बीमार पिता की कार में ही मौत हो गई।

बता दे कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस प्रदेशों से आने वाले लोगों पर रोक है। अपने राज्य के अलावा जिस राज्य में जा रहे हैं वहां के जिला प्रशासन से अनुमति लेनी पड़ती है ऐसे में घुटरी टोला बैरियर में उनसे एसडीएम या कलेक्टर के आदेश की मांग की गई थी जो नीलेश मिश्रा दिखाने में असफल रहे।

Check Also

जम्मू और कश्मीर: त्राल में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू और कश्मीर: पुलवामा के त्राल क्षेत्र में मंगलवार सुबह सेना के जवानो की आतंकियों …