सुप्रीम कोर्ट की वकील इंदिरा का निर्भया की मां से अनुरोध, आरोपियों को करो माफ़ मत होने दो फांसी

उच्चतम न्यायालय एक वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह निर्भया के दोषियों को माफ़ करने का अनुरोध निर्भया की मां से किया है। फ़िलहाल चारों आरोपियों के लिए अदालत ने नया डेथ वारंट जारी कर दिया है। जिसमे अब उन्हें 22 फरवरी को छोड़कर अब एक फरवरी को फांसी दी जाएगी। उच्चतम न्यायालय वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने ट्विटर पर कहा, ‘मैं आशा देवी के दर्द से पूरी तरह से वाकिफ हूं। मैं उनसे अनुरोध करती हूं कि वह सोनिया गांधी के उदाहरण का अनुसरण करें जिन्होंने नलिनी को माफ कर दिया और कहा कि वह उसके लिए मौत की सजा नहीं चाहती हैं। हम आपके साथ हैं लेकिन मौत की सजा के खिलाफ हैं।’

इंदिरा जयसिंह के इस अनुरोध पर निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘इंदिरा जयसिंह मुझे इस तरह का सुझाव देने वाली होती कौन हैं? पूरा देश आरोपियों के लिए फांसी चाहता है। उनके जैसे लोगों के कारण दुष्कर्म पीड़िताओं को न्याय नहीं मिल पाता है।’ पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में भूमिका के लिए नलिनी को गिरफ्तार किया गया था और उसे इस मामले में दोषी था, यह मामला 1991 का था। कोर्ट दवारा अगली डेट मिलने पर गुस्सा जाहिर करते हुए आशा देवी कहा कि जो मुजरिम चाहते थे वही हो रहा है। तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख।

आशा देवी ने कहा कि अब मैं जरूर कहना चाहूंगी कि जब 2012 में घटना हुई तब इन्हीं लोगों ने हाथ में तिरंगा लिया और काली पट्टी बांधी, खूब रैलियां कीं, खूब नारे लगाए। लेकिन आज यही लोग उस बच्ची की मौत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कोई कह रहा आप ने रोक दिया, कोई कह रहा है मुझे पुलिस दे दीजिए दो दिन में रोक के दिखाऊंगा।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …