निर्भया कांड के दोषी ने कर दी अपील कहा, दिल्ली में प्रदूषण से वैसे ही कम हो गयी उम्र, अब फांसी क्यों?

नई दिल्ली: वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषीयो की दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट में 13 दिसंबर 2019 को पेशी हुयी थी। लेकिन कोर्ट ने सुनवाई को टाल कहा था कि इस केस से जुड़ा एक एक मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है इसलिए जब तक इस मामले का निपटारा सुप्रीम कोर्ट में नहीं हो जाता तब तक निचली अदालत इस मामले की सुनवाई नहीं कर सकती।

बता दें कि निर्भया गैंगरेप केस के दोषी अक्षय कुमार सिंह सुप्रीम कोर्ट में सजा को लेकर पुनर्विचार याचिका दायर की है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा। याचिका में कुछ अजीबोगरीब दलीलें रखी गयी है।

जिसमे कहा गया है की दिल्ली में प्रदूषण की वजह से वैसे ही लोगों की उम्र कम हो गयी है। ऐसे में फांसी क्यों। इसके अलावा कई सिद्धांतों के साथ-साथ महात्मा गांधी का भी उल्लेख किया गया है। गौरतलब है की तीन न्यायाधीशों की पीठ उस याचिका पर सुनवाई करने वाली है।

खबर है कि दोषी अक्षय कुमार की याचिका खारिज होने के बाद दूसरा दोषी पुनर्विचार याचिका डालेगा उसके बाद तीसरा और चौथा पुनर्विचार के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा। बताया जा रहा है कि निर्भया के दोषियों की इस प्लानिंग को देखते हुए कोर्ट ने चारों आरोपियों को एक साथ पेश होने का आदेश जारी किया है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …