अपनी पत्नी के शव के साथ सड़क पर धरने पर बैठ गया डॉक्टर, मांग पूरी करने के लिए अडा रहा, फिर प्रसाशन को भी झुकना पड़ा

मामला सोमवार दोपहर का है जब अनैकट्टी के पास ग्यारहवीं कक्षा में पढऩे वाली बेटी को दुपहिया पर लेकर रमेश की पत्नी घर लौट रही थी। शराब की दुकान से थोड़ी दूरी पर एक दुपहिया वाहन ने उनकी वाहन को सामने से ज़ोरदार टक्कर मार दी।

टक्कर के वजह से दुपहिया पर सवार मां-बेटी गिर गई। मां काफी दूर जा कर गिरी और हेलमेट पहने होने के बावजूद सिर में चोट लगने से रमेश की पत्नी शोभना की मौके पर ही मृत्यु हो गई जबकि शोभना की बेटी शांतला घायल हो गई।

जिसके बाद मोके पर मौजूद लोगों ने घायल शांतला को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। घटना की जानकारी मिलते ही रमेश भी मौके पर पहुंचे और पत्नी के शव के साथ धरना पर बैठ गए।

और मांग करने लगा कि दुर्घटनास्थल से थोड़ी दूरी पर चल रही शराब की दुकान को बंद कराया जाए। स्थानीय लोगों का आरोप था कि शराब की दुकान से नशे की हालत में निकले दो युवक दुपहिया पर जा रहे थे और उन्होंने ही शोभना की दुपहिया को टक्कर मारी थी। अक्सर यहां से शराब पीकर लोग निकलते हैं और नशे की हालत में वाहन चलाते हैं जिसके वजह से यहां पर पिछले कुछ दिनों में दुर्घटनाएं बढ़ती जा रही हैं।

बाद में पुलिस ने आकर मामले को सुलझाया और आरोपियों की तलाश में लग गई है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …