हिन्दू सेना ने दंगा भड़काने के लिए खुद फेंका था राम की मूर्ति पर गोबर: गुलबर्ग पुलिस

0
56

गुलबर्ग: श्री रामसेना के कार्यकर्ताओं ने ही शाहाबाद में राम की मूर्ति पर गोबर फेंका था इसकी पुष्टि शाहाबाद पुलिस ने मंगलवार को की है। डेक्कन डाइजेस्ट की खबर के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों में से 6 का श्री रामसेना और कुछ अन्य दक्षिणपंथी संगठनों से जुड़े होने की बात कबूल की है।

शाहाबाद पुलिस ने इस मामले में 6 लोगो को गिरफ्तार किया है। जिसमे से अभी एक आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। जिन 6 लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वो सभी सेपांच बहुसंख्यक समुदाय के हैं। जिनकी पहचान अभिषेक (19 ), श्रीनिवास (21), बाबा (22), विनोद (22 ), नीलेश (24) और तिम्मन्ना (25) के तौर पर की गयी है।

गुलबर्ग के एसपी एन शशि कुमार ने पत्रकार से बातचीत में बताया की मोहर्रम के दौरान शहर में सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने के लिए शिव नाम के एक लड़के ने मुसलमानों के खिलाफ फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट की थी। मुस्लिम समुदाय द्वारा इस पोस्ट पर आपत्ति जताते हुये एफआईआर दर्ज कराई थी जिसके बाद लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया था। वही कुछ लोगो ने शहर में सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने की नियत से मुस्लिम समुदाय पर राम की मूर्ति पर गोबर फेके जाने का आरोप लगाया गया था। लेकिन पुलिस ने अराजक तत्वों को 2 घंटे के अंदर गिरफ़्तार कर लिया।

एसपी ने बताया कि 12 अक्टूबर को भिन्न संगठनों के 6 से 8 लोगों ने सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने के लिए योजना बनाई थी। लेकिन पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया जिससे कोई बड़ी घटना नहीं हो सकी।

उन्होंने आगे कहा कि गिरफ्तार किये गए लोगो ने खुद को श्री रामसेना का कार्यकर्ता बताया है। इन लोगों घटना को अंजाम ये सोच कर दिया था कि इनकी पहचान नहीं की जा सकती है। लेकिन पुलिस ने इसे अपनी सूझ-बुझ से हल किया जिससे सांप्रदायिक हिंसा होने से टल गयी। मैं अपनी टीम और दोनों समुदायों के लोगों को जिन्होंने पुलिस विभाग पर भरोसा किया मै उन्हें बधाई देता हूं।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...