मोदी सरकार में राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी पर छलका महंत नृत्य का दर्द

0
262
Loading...

श्रीराम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष व मणिराम दास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास महाराज को केंद्र में मोदी सरकार और यूपी में योगी सरकार के रहते अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी को लेकर उनको अब निराशा हो रही है। वह चाहते है की राम मंदिर निर्माण का समाधान मोदी सरकार तुरंत निकाले। महंत दास का कहना है की कि यह मामला अदालत में 70 सालो से है। वह अदालत और जजों का सम्मान करते हैं लेकिन जन जागरूकता और सरकार को याद दिलाना उनका मौलिक और धार्मिक अधिकार है।

दिल्ली में शुक्रवार को योजनाबद्ध संत उच्चाधिकार समिति की बैठक में हिस्सा लेने के लिए जाने से पहले उन्होंने कहा की अयोध्या की राम जन्मभूमि पर कारसेवकों ने अस्थाई तौर पर ही मंदिर बना दिया है लेकिन अभी उस जगह को भव्य मंदिर में बदलना बाकि है। हिन्दू समाज लगातार अपना बलिदान देकर इसका इंतजार कर रहा है। आज रामलला को टेंट में देखकर समाज विचलित हो जाता है। समाज कुछ पूछता है कि सरकारों के रिप्रेजेन्टेटिव बड़े-बड़े हवादार भवनों में आराम से रह रहे है। और दुनिया को छत देने वाले खुद कपड़े के टेंट में ठंडी, गर्मी, बरसात का सामना करते हैं। साथ ही कैदियों की तरह पुलिस की कड़ी सुरक्षा में जकड़े हुये है।

न्यास अध्यक्ष ने कहा की कई सरकारों में जन्मभूमि के लिए आंदोलन हुआ, गोलियां खायी, लोगो को जेलों में बंद करके प्रताड़ित किया गया। फिर भी हम दृढ़ संकल्प से पीछे नहीं हटे और न आगे हटने वाले हैं। उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से उम्मीद बनी हुई है। उन्होंने बताया की शुक्रवार को दिल्ली में होने वाली देश के प्रमुख संतों की बैठक में संत अपनी भावनाओं से सचेत ही नहीं करायेंगे बल्कि आगे ठोस कदम भी उठाये जायेंगे।
ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...