भगोड़े विजय माल्या की होगी वापसी, ब्रिटिश गृह सचिव ने दी परमिशन

0
102
Loading...

नई दिल्ली: कई बैंको का 9000 करोड़ रुपये से ज्यादा का लोन लेकर लंदन भागे शराब कारोबारी विजय माल्या को अब इंडिया लेन का रास्ता साफ़ हो गया है। दरअसल, ब्रिटिश गृह मंत्रालय के हवाले से जानकारी मिली है की, ब्रिटिश गृह सचिव ने विजय माल्या के प्रत्यर्पण की परमिशन देती है। लेकिन माल्या को अपील करने के लिए 14 दिन का समय दिया गया है।

वही भगोड़े विजय माल्या तथा नीरव मोदी को लेकर विपक्ष हमेशा हमलावर रहा है ऐसे में चुनाव के समय विजय माल्या की भारत वापसी मोदी सरकार के लिए राहत की बात होगी। इससे पहले अगस्ता वेस्टलैंड मामले में मोदी सरकार बिचौलिए मिशेल को इंडिया ला चुकी है।

बता दें कि पिछले साल ब्रिटेन की हाईकोर्ट ने विजय माल्या को भारत ले जाने की मंजूरी दी थी। तब माल्या ने बैंको का मूलधन लौटाने की बात कही थी। वही ब्रिटेन हाईकोर्ट में माल्या के ऊपर मनी लॉन्ड्रिंग, धोखाधड़ी और साजिश के आरोप तय हुए थे।

विजय माल्या की मुश्किल ज्यादा उस समय बढ़ गयी जब मुंबई की एक कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कहने पर मनी लॉन्ड्रिंग विरोधी कानून के तहत भगोड़ा घोषित कर दिया था। इसके साथ ही माल्या ऐसे बिजनेसमैन बन गए जिसे कानून के तहत भगोड़ा घोषित किया गया। सरकार लगातार प्रत्यर्पण की कोशिशे कर रही है लेकिन माल्या अभी तक कानूनी चक्करो की वजह से बचते रहे हैं।

विजय माल्या के अलावा नीरव मोदी और राहुल चोकसी जैसे बिजनेसमैन भारतीय बैंको का हजारो करोड़ रुपये लेकर देश छोड़कर भाग चुके हैं। लेकिन मोदी सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को लुक आउट नोटिस जारी करने का अधिकार दिया है। जो ये अधिकार अभी तक गृह मंत्रालय, पुलिस, सीबीआई जैसी एजेंसियों के पास था। बैंक उन लोगो के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी कर सकता जो जानबूझकर कर्ज नहीं दे रहे या देश छोड़कर भागने वाले है।

Loading...