इस भयंकर बीमारी की शिकार पत्नी, 12-12 बार संबंध बनाने को कहती थी, लेकिन पति से

9 साल पहले 2011 में निर्मला की शादी संजय रजक के साथ हुई। संजय रजक काफी मेहनती था, जोकि पैसे कमाने के लिए आफिस और स्कूल मजदूरी किया करता था। सब कुछ काफी अच्छा चल रहा था, और जब संजय घर रहता था, उसकी पत्नी उससे 11-12 बार संबंध बनाने को कहती थी। संजय पत्नी की हर बात बनता था।

लेकिन संजय रजक की भी उम्र हो चली थी। और पत्नी की हवस अभी बाकि थी। लेकिन संजय रजक उसको कभी कभी मना भी कर दिया था। जिसके बाद पत्नी निर्मला ने उसे सेक्स दवाई का सहारा लेने को कहा। फिर दवाइयों के सहारे कुछ दिन तक काम चलता रहा। लेकिन फिर निर्मल पड़ोस के काम उम्र के लड़को से संबंध बनाने लगी। संजय यह सोचता था, कि उसकी पत्नी निर्मला को बीमारी है। लेकिन संजय उसे किस डॉक्टर को दिखता क्यूंकि गांव में डॉक्टरों की कमी थी। और संजय इतने पैसे नहीं कमाता था की उसे शहर ले जाता।

पड़ोसियों के साथ संबंध बनाने का संजय को पता चल चूका था। लेकिन वह उसे से सीधे नहीं पूछ सकता था, और रंगे हाथ पकड़ना चाहता था। लेकिन जब एक बार संजय काम से घर वापस आया तो उसने देखा उसकी पत्नी निर्मला एक लड़के के साथ रंगरलिया मना रही थी। जिसके बाद पति पत्नी में खूब झगड़ा हुआ। जिस पर निर्मला ने कहा, जब तुमसे कुछ होता नहीं है तो मेरा मन मै जिसके साथ चाहु संबंध बनाऊ।

यह सुनकर संजय को काफी गुस्सा आता है, और वह लोहे का डंबल उठा कर निर्मला के सिर पर मार देता है जिससे निर्मला की मौके पर ही मौत हो गई। फिर पत्नी की लाश को किचन में गढ्ढा खोदकर उसने वही दफ़न कर दिया। लेकिन गांव वालो को भी इसकी खबर लग चुकी थी। जिसके बाद संजय ने खुद पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया। तोरबा थाने की पुलिस के अनुसार निर्मला एक निंफोमेनिया नामक बीमारी से ग्रसित थी। जिसका इलाज मुमकिन था।
लेकिन संजय पछताने के शिवाय अब कुछ नहीं कर सकता क्यूंकि निर्मला की मौत हो चुकी थी।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …