ISIS आतंकियों के चंगुल से छूटकर आई महिला ने सुनाई आपबीती, 10 साल की बच्ची से 100 मर्द करते थे रेप

0
19415
Loading...

इराक: आईएसआईएस आतंकियों के चंगुल से आखिरी ठिकाने बगहुज से बचाई गई 29 साल की महद्या ने जो खुलासे किये है। वो आतंकियों द्वारा किये गए जुल्म सुनकर आप दंग रह जायेंगे। उसने अपनी भतीजी मारवा के बारे में बताया की कैसे उसे आतंकियों ने सिर्फ 10 साल की उम्र में प्रेग्नेंट कर दिया था।

उसने आगे बताया की, केवल मारवा ही नहीं न जाने कितनी लड़कियों को 100 से ज्यादा आतंकियों के हाथो बलात्कार का शिकार होना पड़ता था। महद्या ने बताया कि उसने अपनी भतीजी को रक्का ले जाने से पहले हरदन के मार्केट के समीप देखा था। हालाँकि उसकी दोस्त ने मारवा को एक महीने पहले देखा था। लेकिन अब मरवा की कोई खबर किसी के पास नहीं है।

आतंकियों के कैदखाने से छूटकर आने वाले यजीदीयों के लिए सेफ हाउस चलाने वाली जियाद अवदल ने बताया की, ये केवल मरवा की ही बात नहीं है। ऐसी न जाने कितनी ही लड़कियां है जिन्हे 100 से ज्यादा मर्दों ने बलात्कार कर छोटी उम्र में ही प्रेग्नेंट कर दिया है।

महद्या ने आईएसआईएस आतंकियों के हाथो लड़कियों के खरीदने, उन्हें बेचने, प्रताड़ित करने और जबरन शादी के लिए मजबूर करने की कहानी बताई। कहा की मैंने अपनी आँखों से देखा की मेरे दो बेटियों को पीट रहे है। महद्या ने आगे बताया की, साढ़े चार सालों में उन आतंकियों ने कितनी बार बेचा ख़रीदा मुझे याद नहीं है। एक तो सिर्फ 3 दिनों के लिए मुझे खरीदा था।

बतादे की, महद्या अपनी दो बेटियों जिनकी उम्र 8 और 9 साल है के साथ पिछले ही सप्ताह आतंकियों के कैदखानों से रेस्क्यू कर बचाया गया है। महद्या आतंकियों द्वारा अपहरण किए गए साढ़े 6 हजार यजीदियों में से है, जबकि आधे से ज्यादा यजीदियों की कोई खबर अभी तक नहीं है।

Loading...