चाैकीदार की नहीं थी कोई संतान, बेटे का फ़र्ज़ निभाने पहुंचे सब इंस्पेक्टर, दिया अर्थी काे कंधा

कुछ दिन पहले बूढ़ी महिला की अर्थी काे कंधा देते हुए सहारनपुर पुलिसकर्मियों की दिल छू लेने वाली तस्वीर देखने को मिली थी। अब मुजफ्फरनगर पुलिस की भी ऐसी ही तस्वीर देखने को मिली है, यहां एक चाैकीदार के निधन की सूचना पर पहुंचे सब इंस्पेक्टर ने अर्थी काे कंधा देकर मानवता की मिसाल पेश की है। साथ ही पूरे प्रदेश के चाैकीदारों का मान बढ़ा दिया।

मामला मुजफ्फरनगर के छपार थाना क्षेत्र का है।साेमवार काे गांव खामपुर के एक बूढ़े हाे चुके चाैकीदार का लंबी बीमारी के बाद निधन हाे गया। जानकरी मिलने पर सब इंस्पेक्टर बिजेंद्र शर्मा गांव पहुंचे और अर्थी काे कंधा दिया। यह देख पूरे गांव ने उनकी तारीफ की।

दरअसल, चाैकीदार मालू की काेई संतान नहीं थी, और वह काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। बीमारी के कारण ही उनका निधन हाे गया। ऐसे में गांव वालों काे यही लग रहा था मालू की अर्थी काे कंधा काैन देगा। इसी बीच सब इंस्पेक्टर बिजेंद्र शर्मा गांव आए। उन्हाेंने गांव वालों को बताया कि मालू पुलिस परिवार के ही सदस्य थे।

उन्हाेंने वर्षों तक महकमें की सेवा की है। वह हमारे बड़े थे इसलिए उनकी अर्थी काे कंधा देना उनके लिए साैभाग्य की बात हाेगी। सब इंस्पेक्टर की इन बातों काे सुनकर गांव वालों की भी आंखे भर आई।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …