लॉकडाउन की वजह से खाने के पड़े लाले, घर में नहीं था दिहाड़ी मजदूर के एक भी पैसा, परेशान होकर लगा लिया फंदा, पत्नी ने बचाया और फिर…

एक प्रवासी का फंदा डालकर कमरे की छत से लटकाने का मामला समने आया है, लेकिन फंदा लगते वक़्त उसकी पत्नी ने उसे देख लिया था। जिसके बाद महिला ने फंदा काटकर पति की जान बचा ली। पीड़ित की पत्नी ने चिल्ला कर आसपास के लोगों को बुलाया। स्थानीय लोगों ने 108 नंबर पर कॉल करके एंबुलेंस बुलाई। इसके बाद व्यक्ति को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नादौन में उपचार के लिए भेजा।

जब पुलिस को इस बात की सूचना मिली तो पुलिस टीम अस्पताल पहुंची और पीड़ित व्यक्ति की पत्नी के बयान लिया। पुलिस को दिए बयान में आत्महत्या का प्रयास करने वाले सतीश कुमार की पत्नी फूल कुमारी ने कहा कि वह उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तथा नादौन के गांव जलाड़ी में किराए के मकान में रहते हैं। वह कस्बा में दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे थे।

लेकिन लॉकडाउन और उसके बाद कर्फ्यू के कारण उन्हें कोई रोजगार नहीं मिल रहा व घर पर ही रहने को मजबूर हैं। महिला ने कहा कि पैसों की कमी के कारण घर के किराये के भुगतान और खाने-पीने की सामग्री की दिक्कतें पेश आ रही हैं। बुधवार को उनके पति ने उत्तर प्रदेश अपने घर पर फोन करके उनके खाते में पैसे डलवाने के लिए फोन किया था।

लेकिन घर से भी कोई मदद नहीं मिली। जिसके बाद पति ने घर के कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। महिला ने कहा कि, जब पति कमरे में फंदा लगाने का प्रयास कर रहा था, उस दौरान वह कमरे के बाहर काम कर रही थी। इसी दौरान उसकी नजर पति द्वारा कमरे में लगाए जा रहे फंदे पर पड़ी और वह दौड़ती हुई कमरे में पहुंची।

Check Also

बिहार में जेल से शराब सिंडिकेट चला रहे कुख्यात अपराधी, केस दर्ज होने के बाद कटघरे में जेल प्रशासन 

बिहार में शराबंदी को लेकर मामला फिर चर्चा में आ गया है। अभी एक्साइज एसपी …