आत्मनिर्भर की एक तस्वीर ये भी, कई दिनों से घर में भूखे पड़े बुजुर्ग दंपति को पुलिस ने पहुंचाया भोजन कहा, आप अकेले नहीं है, हम आपके साथ है

लॉकडाउन के दौरान हाथ में डंडा लेकर लोगो पर सख्ती करती पुलिस वालों की छवि आम है। लेकिन रविवार सुबह काटपाडि में पुलिस उपनिरीक्षक की दरयदिली देखने को मिली है। वेलूर के काटपाडि में पुलिस का दूसरा पहलू भी देखने को मिला है।

पुलिस वालों का यह रूप देखकर जनता को भरोसा हुआ है कि हम कोरोना के विरूद्ध लड़ाई जरुर जीतेंगे। काटपाडी के भारती नगर के रहने वाले 85 वर्षीय नागेय्या एवं इसकी 70 वर्षीय पत्नी रानी दोनों चल फिर नहीं सकते हैं।

इस दंपति का एक बेटा है। जोकि दूसरे राज्य में कार्य करता है और लॉकडाउन के कारण वहीं रुका हुआ है।बीमार के चलते दंपति लाकडाउन की वजह से बाहर निकल कर राशन नहीं ला सके।

जोकि घर में रखा राशन खत्म होने के बाद लाचार हुए घर में बैठे थे। जिसकी जानकारी मिलते ही काटपाडी थाने के उपनिरीक्षक मनोगरन मौके पर पहुंचकर दंपति को खाना और राशन प्रदान किया। दोनो बुजुर्गो को उन्होंने मोबाइल हेल्प नम्बर दिया और आश्वासन दिया कि वो लोग अकेले नहीं है। वे कभी भी उन्हें कॉल कर सकते हैं।

Check Also

Cyclone Nisarga: मुंबई से 150 किलोमीटर दूर है ‘निसर्ग’ चक्रवाती तूफान, 120 KM घण्टे की रफ्तार पकड़ मचा सकता है तबाही

मुंबई: बुधवार 3 जून 2020 को महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्री तट से टकराने वाले …