(PC-ANI)

कोरोना वायरस से जंग में मददगार साबित होगा यह मोबाइल ऐप, पलक झपकते ही मिलेगी मदद: केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद

कोरोना वायरस पर रोक लगाने के लिए भारत सरकार ने 2 अप्रैल को आरोग्य सेतु मोबाइल एप लॉन्च किया था। जिसको लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को बताया की आज भारत सरकार और तमिलनाडु के बीच एक बहुत ही अच्छी पहल की शुरुआत की गयी है। आरोग्य सेतु से जैसे ही आप एक बार मिस्ड कॉल देने और अपने स्थान की पहचान करने के बाद यह सक्रिय हो जाएगा। हेल्थकेयर के लिए मदद और गाइडेंस उपलब्ध होगी।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया की, “आज भारत सरकार और तमिलनाडु, आरोग्य सेतु आईवीआरएस के बीच एक पहल शुरू की गई है। एक बार मिस्ड कॉल देने और अपने स्थान की पहचान करने के बाद यह सक्रिय हो जाएगा। इस पर आपको सहायता, स्वास्थ्य देखभाल और मार्गदर्शन के सभी विकल्प उपलब्ध होंगे।”

द नेक्स्ट वेब की रिपोर्ट के मुताबिक, Aarogya Setu ऐप स्मार्टफोन के लोकेशन डेटा और ब्लूटूथ के जरिए यूजर को सूचित करता है की वह किसी कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये थे या नहीं। यह ऐप कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित लोगों के डेटाबेस को रीड करता है।

बतादे की पिछले काफी दिनों से Aarogya Setu ऐप के बीटा वर्जन की टेस्टिंग की जा रही थी। ऐप के इस वर्जन में बीटा वर्जन वाले तक़रीबन सभी फंक्शन सम्मलित किये गए है। यह ऐप डिवाइस से यूजर के डेटा को एनक्रिप्टेड फॉर्म में रिसीव करके सर्वर पर भेजता है। इसके बाद यूजर को ज्ञात हो जाता है की वह किसी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आया है की नहीं।

बतादे अगर कोरोना पॉजिटिव है या आप किसी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति से संपर्क में आये है तो यह आपके डेटा को सरकार के साथ साझा करता है। गौरतलब है की यह ऐप आपका डेटा किसी थर्ड पार्टी ऐप के साथ साझा नहीं करता है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …