इस दरिंदे टीचर ने 4 साल की मासूम बच्ची को जंगल में ले जाकर किया रेप, अब कोर्ट ने जारी किया डेथ वारंट

0
434

मध्य प्रदेश: एमपी के जबलपुर में सतना जिला अदालत ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए एक टीचर को फाँसी की सजा सुना दी। दरअसल, स्कूल टीचर महेंद्र सिंह गोंड ने साल 4 साल की एक बच्ची को जंगल में ले जाकर उसके साथ रेप किया और उसे मरा समझकर झाड़ियों में फेंक आया। वही अदालत ने नये कानून के तहत फाँसी की सजा सुना दी। आरोपी को 2 मार्च को जबलपुर की जेल में फांसी दी जाएगी।

जानकारी के अनुसार, स्कूल टीचर महेंद्र सिंह गोंड ने 30 जून, 2018 की रात को 4 साल की एक बच्ची को अगुवा कर जंगल में ले जाकर उसके साथ घिनौना काम किया और मरा समझकर झाड़ियों में फेंक आया। जिसके बाद घरवालों ने खोजबीन की तो बच्ची झाड़ियों में अधमरी हालत में पायी गई। जिसे प्रदेश सरकार की मदद से चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली एम्स ले जाया गया। वारदात के कुछ ही घंटो बाद पुलिस ने टीचर को गिरफ्तार कर लिया था।

डीएसपी किरन राव के संचालन में पेश की गई चार्जशीट के आधार पर सतना जिला अदालत ने आरोपी टीचर को 19 सितंबर को फांसी की सजा सुना दी थी। जिसमे बच्ची की गवाही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की गई थी।

वही अधिकारियो का कहना है की अगर सुप्रीम कोर्ट इस आदेश पर स्टे नहीं लगाएगा तो 2 मार्च को आरोपी टीचर को जबलपुर जेल में फांसी दी जाएगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एमपी हाई कोर्ट की एक डिविजन बेंच के न्यायधिशो ने कहा की, कोर्ट ऐसे क्रूर अपराधियों पर कड़े एक्शन लेने में पीछे नहीं हटेगी। जिसके बाद आरोपी टीचर महेंद्र की फांसी की सजा पर 25 जनवरी को मुहर लगा दी थी।

Loading...