जो नागरिकता के लिए कागज़ नहीं दिखाएंगे, वह बाद में मुँह दिखने काबिल भी नहीं रहेंगे: दिलीप घोष

पीएम मोदी दवारा लागु किये गए नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ बड़े बड़े नमी लोग खुलकर बोल रहे हैं। कोई इसका विरोध कर रहा है तो कोई इसको सपोर्ट। कई लोग नागरिकता साबित करने के लिए कागजात नहीं दिखाने को कह रहे हैं। इन लोगो पर पलटवार करते हुए पश्चिम बंगाल भारतीय जनता पार्टी क प्रमुख दिलीप घोष ने जवाब देते हुए कहा है कि, जो अभी कागजात नहीं दिखाने की बात कर रहे हैं वो चेहरा दिखाने की हैसियत में नहीं रहेंगे।

दिलीप घोष दवारा शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा गया, उन्होंने कहा ‘सिविल सोसाइटी के वो लोग जो आज कह रहे हैं कि वो नागरिकता साबित करने के लिए कोई कागजात नहीं दिखाएंगे, जल्द ही अपना मुंह छिपाते नजर आएंगे.’

आपको बता दें कि CAA के विरोध करने वाली नामी हस्तियों को पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रमुख ने ‘पैरासाइट्स’ यानी की खून चूसने वाला परजीवी कहा था। दिलीप घोष शनिवार को नंदीग्राम के लिए रवाना हो रहे थे लेकिन रास्ते में उन्हें पुलिस दवारा रोक लिया गया, जिसके बाद उन्हें खोदाम्बरी में ही रुकना पड़ा, यहीं पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिलीप घोष ने यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘आजकल पश्चिम बंगाल की सड़कों पर कई लोग ज्ञानी बने घूम रहे हैं. वो दिन भर ज्ञान देकर अशांति फैला रहे हैं. पहले सीपीएम ने सड़कों पर बुद्धिजीवियों को छोड़ा था, आजकल दीदी (ममता बनर्जी) इनको बना रही हैं. आजकल जो भी सड़कों पर खड़ा हो रहा है उसे बुद्धिमान बता दिया जा रहा है.’

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …