लॉकडाउन बढ़ने से गुस्से में आये हजारो प्रवासी मजदूर, बड़ी संख्या में पहुंचे बांद्रा स्टेशन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मुंबई: कोरोनावायरस से मुकाबला करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉक डाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा संबोधन के बाद मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर हजारों प्रवासी मजदूरों की भीड़ इकट्ठा हो गई। उन्हें लगा कि लॉक डाउन खत्म हो गया है और आज उन्हें अपने घर जाने के लिए सवारी ट्रेन मिल जाएगी।

मंगलवार को मजदूरों को उम्मीद थी कि लॉक डाउन हो जाएगा और वह अपने घरों को जा सकेंगे। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने लॉक डाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया है। बड़ी संख्या में भीड़ देखकर मुंबई पुलिस के हाथ पैर फूल गए, भीड़ को हटाने के लिए मुंबई पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।

हालांकि बांद्रा स्टेशन पर अभी भी सैकड़ों मजदूर जमा है और वह प्रदर्शन कर रहे हैं उनकी मांग है कि वह अपने प्रदेश वापस जाना चाहते हैं। महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने जानकारी देते हुए कहा कि प्रवासी मजदूर अपने प्रदेश वापस जाने के लिए परेशान है लेकिन सरकार इन मजदूरों के खाने का इंतजाम करेगी। हम मजदूरों को समझा रहे हैं कि उनकी परिस्थितियों को सुधारने की पूरी कोशिश की जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रवासी मजदूर लॉक डाउन के खत्म होने की उम्मीद से बांद्रा स्टेशन पहुंच गए थे। धीरे धीरे स्टेशन पर भीड़ बढ़ती गई जिसके बाद पुलिस प्रशासन को भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।

गौरतलब है की महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या भारत में सबसे ज्यादा है। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 2337 पहुंच गई है। जिसमे से 160 लोगो की मौत हो चुकी है। जबकि 229 लोग ठीक हो चुके है। अभी भी 1948 केस एक्टिव है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …