NRC में नाम डलवाने के लिए 28 अक्टूबर तक का समय- ‘मिलेगा आधार, होंगे भारतीय नागरिक’

0
85
Loading...

असम: असम के लोगों को देश का क़ानूनी नागरिक होने के लिए NRC में नाम दर्ज कराने के लिए 28 अक्टूबर तक का समय निर्धारित किया गया है। साथ ही नाम दर्ज करवाने या हटवाने से संबंधित दावों और आपत्तियों को दर्ज कराने का समय 30 अगस्त तक तय किया गया है।

इस मामले से जुड़ी पार्टियों को 30 नवंबर तक नोटिस जारी किया जाएगा और 15 दिसंबर से इसकी सुनवाई शुरू होगी। इस दौरान सिर्फ उन लोगों के नाम जोड़ने के दावों को सुना जाएगा। जिन्होंने 2015 में इसके लिए आवेदन किया था, जिस समय आवेदन मांगे गए थे। हालांकि 2015 में किये गए आवेदन में अगर किसी का नाम गलत दर्ज होने को लेकर कोई भी आपत्ति दर्ज करा सकता है। हालाँकि ये भी कहा गया है, कि ‘नाम जोड़ने के आवेदन अगर रिजेक्ट किये जाते हैं तो इसके लिए कोई सजा का प्रावधान नहीं है। SOP ने उन लोगों के नाम शामिल करने की इजाजत दी, जिन्होंने ‘अलग से विरासत दस्तावेज’ जमा किए, बशर्ते ये कानूनी रूप से मान्य हों और पहले जमा किए गए दस्तावेजों की श्रेणियों से मिलते हों।

SOP में कहा गया है, की सुनवाई के दौरान, राज्य सरकार UIDAI के साथ मिलकर सभी आवेदकों के बायॉमेट्रिक Enrolment पर काम करेगी। NRC तैयार होने के बाद जिनके नाम NOC में हैं, को उनका आधार नंबर दे दिया जाएगा और उन्हें देश का कानूनी नागरिक माना जाएगा।

आप को बताते चले कि NOC में करीब 40 लाख लोग ऐसे है जिनका नाम नहीं आए है। जिसके चलते एक बड़ी आबादी की नागरिकता पर संकट बना हुआ है। फिलहाल सरकार ने ऐसे लोगों के खिलाफ किसी भी कार्रवाई से साफ मना किया है। वही सरकार ने ये भी कहा है कि 1971 से पहले के दस्‍तावेज दिखाने पर NRC में नाम आ जाएगा।

Loading...