कुंभ में आज दूसरा शाही स्नान- 3 करोड़ श्रद्धालु आज लगाएंगे डुबकी

0
756
Loading...

उत्तर प्रदेश: यूपी के प्रयागराज में कुंभ मेला का आज दूसरा अहम् शाही स्नान शुरू हो चूका। है इस दूसरे शाही स्नान के लिए मौनी अमावस्या पर मध्यरात्रि से स्नान के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ संगम के घाटों पर पहुंचना शुरू हो चुकी है। संगम घाट पर इस शाही स्नान के लिए महानिर्वाणी और अटल अखाड़ा ने सबसे पहले सुबह 6 बजकर 15 मिनट पर डुबकी लगाई।

इसके बाद श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा, पंचदशनाम जूना अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा, तपोनिधि श्री पंचायती आनंद और आह्वान अखाड़े के संतों ने शाही स्नान किया। वही शाही स्नान करने के लिए दिगंबर अखाड़ा और निर्वाणी अनि भी संगम घाट पहुँचकर डुबकी लगाई।

प्रशासन के तरफ से सभी अखाड़ों को शाही स्नान के लिए 40 मिनट का समय निर्धारित किया गया था। कुंभ मेले में शाही स्नान करने के लिए 41 घाट तैयार किए गए हैं। आज इस शाही स्नान के लिए लगभग तीन करोड़ श्रद्धालुओं के पहुँचने की संभावना है।

मेला प्रशासन ने बड़ी तैयारियाँ करते हुए आरएएफ, बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी, पैरा मिलिट्री की 17 कंपनियां और अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां को लगाया है। साथ ही जाल के साथ बैरीकेडिंग किया है। इनके अलावा 14 हजार होमगार्ड के जवानों को भी ड्यूटी पर तैनात किया गया। है साथ में एनडीआरएफ की 10 कंपनियां तैनात है। घाटों से लेकर संगम तक 111 घुड़सवार पुलिस वालो को देख-रेख के लिए लगाया गया है।

वही कुंभ मेले को 10 अलग-अलग जोन में तब्दील किया गया है। इस सभी 10 जोनों को हानि से निपटने के लिए 40 सब फायर स्टेशन चौबीस घंटे एक्टिव किये गए है। इस सभी 10 जोनों पर 440 सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की जा रही है। इसके अलावा 96 फायर वॉच टावर इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से कनेक्ट किये गए है।

इसी माघ महीने की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को माघी अमावस्या (मौनी अमावस्या) कहा जाता है। इस अमावस्या को सनातन धर्म में खासा महत्व दिया जाता है। माना जाता है की आज ही के दिन तीर्थांकर ऋषभ देव ने लंबी तपस्या का मौन व्रत तोड़कर इस संगम के पवित्र जल में डुबकी लगाई थी। वही इस दुर्लभ योग में गंगा स्नान, दान पुण्य करने से राहु, केतु और शनि से संबंधित पीड़ा से छुटकारा मिलेगा।

Loading...