लॉकडाउन तोड़ने की कोशिश: जुमे की नमाज में लगाई भीड़, रोकने पर अजान देने वाले और उसके बेटे को बेरहमी से पीटा

देश में कोरोना संकट और लॉकडाउन के दौरान मस्जिदों में सामूहिक नमाज अदा करने पर पाबंदी है। सरकार, प्रशासन के साथ-साथ कई मुस्लिम धर्मगुरु से नमाज के लिए भीड़ नहीं जुटाने की अपील कर चुकी हैं। लेकिन इसके बावजूद भी कुछ लोग हठधर्मिता का परिचय देते हुए न सिर्फ मस्जिद पहुंच रहे हैं बल्कि रोके जाने पर मस्जिद के कर्मचारी के साथ मार-पीट भी कर रहे हैं।

ये ताजा मामला बिहार के दरभंगा जिले का है, यहां शुक्रवार को जुमे की नमाज पढ़ने मस्जिद पहुंचे लोगों को रोकने पर मोअजिन व उसके पुत्र को बेरहमी से पीटा गया। साथ ही नमाज पढ़ने आए लोगों द्वारा मस्जिद पर पत्थरबाजी भी की गई। जिसमें कुल तीन लोग घायल हुए। मामले में मस्जिद के मोअजिन वलीउल्लाह खान के बयाव पर प्राथमिकी की गई है। और अब पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

ये घटना दरभंगा के लहेरियासराय थाना क्षेत्र के वार्ड संख्या 29 स्थित मोहल्लाह फैजुल्लाह खां के खान साहब की डेयूडी मस्जिद की है। यहां जुमे की नमाज अदा करने को लेकर बवाल मच गया। इस मामले में लॉकडाउन के उल्लंघन करने की कोशिश की जा रही थी, उल्लंघन कुछ लोगों ने जबरन मस्जिद में नमाज पढ़ना चाहते थे। जिसका मस्जिद के मोअजिन दवारा विरोध किया गए कहा कि मस्जिद में लॉकडाउन तक कोई भी नमाज भीड़ जमा कर नहीं होगी। वहीं, 3 से 4 लोगों की ही इजाजत प्रशासन की ओर से मिली है तो कैसे दर्जनों लोग जुमे की नमाज अदा कर सकते है। इसी को लेकर कहा-सुनी से बवाल रोड़ेबाजी में बदल गई।

मस्जिद के कर्मचारी वलीउल्लाह खान ने उन्हें कहा-कोरोना के चलते सामूहिक नमाज अदा करने पर रोक लगाई गई है। जिसपर लोग भड़क गए और मस्जिद पर पथराव करने लगे। वलीउल्लाह खान को बचाने पहुंचे उनके पुत्र को भी पीटा गया और बीच-बचाव करने पहुंचे मो. फैजल को पत्थर मार कर जख्मी कर दिया। इस मामले में मो. राजू उर्फ रिजवान, शफान, हाजीबुल आदि को नामजद किया गया है। घटना की सूचना मिलते ही लहेरियासराय थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर तहकीकात करते हुए पीड़ित से आवेदन लिया गया। साथ ही आरोपी पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया गया।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …