यूपी-बिहार के लोगों पर नहीं रुक रहे हमले, अब सूरत-वडोदरा से उत्तर भारतीयों का पलायन जारी

0
43

गुजरात: गुजरात में हिन्दी भाषी लोगों पर हमले रुकने का नाम नहीं ले रहा है। वही प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने दावा किया है की गुजरात में अब कोई घटना नहीं हो रही है। लेकिन मंगलवार को ही सूरत और वडोदरा से उत्तर भारतीयों पर हमले के नए मामले सामने आये है। मंगलवार को उत्तर भारतीयों से भरी ट्रेन पर हमला किया गया। भीड़ ने ट्रेन की 6 बोगियों में जमकर तोड़फोड़ की। गुजरात में उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों में हमले का खौफ इतना ज्यादा हो गया की है वो गुजरात छोड़कर जाने के लिए मजबूर हैं। वडोदरा मामले में अब तक कुल 25 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

गुजरात के अहमदाबाद, सूरत सहित कई औद्योगिक क्षेत्रों से लोग मंगलवार को ही छोड़कर जा रहे हैं। इस बीच पुलिस लगातार घटनाओं पर कार्रवाई भी कर रही है। पुलिस ने मंगलवार को 6 गाड़िया को अपने कब्जे में ली और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। अभी तक इन वारदात को लेकर पूरे प्रदेश में कुल 68 एफआईआर दर्ज हो चुकी हैं। जबकि 500 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चूका है।

गुजरात में हो रही इन घटनाओ की वजह से जो लोग अपने प्रदेश वापस लौट रहे है अब उनके पास कोई रोजगार नहीं बचा है। वो जल्दीबाजी में बिना अपना वेतन लिये घर वापस जा रहे हैं। यूपी और बिहार के लोगों का गुजरात छोड़ कर जाना वहां के व्यापार के लिए भी चिंता का विषय बनता जा रहा है।

हिन्दी भाषी लोगों पर हो रहे हमले पर राजनीति भी तेज हो गयी है। कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोल रही हैं तो वहीं भाजपा ने अल्पेश ठाकोर के सहारे इन घटनाओं का जिम्मेदार कांग्रेस को ही बताया।

वही दूसरी तरफ गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने मंगलवार को एक हेल्पलाइन नंबर जारी कर कहा की अगर किसी भी हिन्दी भाषी पर हमला होता है तो वह उन्हें सूचित करे। ये प्रदेश सबका है। आपको बताते चले की प्रदेश साबरकांठा जिले में 28 सितंबर को 14 महीने की एक बच्ची के साथ कथित तौर पर बलात्कार हुआ था और इस आरोप में बिहार के रहने वाले मजदूर को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद से ही, अब तक 6 जिलों में हिन्दी भाषी लोगों के खिलाफ हिंसा की घटनाएं हुईं।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here