लाकडाउन में ठेले पर फल बेच रहे बच्चे पर टूटी UP पुलिस, सिपाहियों की पिटाई से बच्चे का सूज गया हाथ: Video

उत्तर प्रदेश: लॉकडाउन के बीच बरेली के सिंधुनगर कालोनी में चीता मोबाइल के सिपाहियों ने एक 12 साल के बच्चे को बेरहमी से पीटने का मामला सामने आया है। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

मिली जानकारी के अनुसार, 12 साल के बच्चे का पिता सिंधुनगर कॉलोनी के सामने फल का ठेला लगाता था। उस दिन पिता के ना होने पर बच्चा अपने ठेले के पास था। तभी सिपाही आए और ठेला हटाने के लिए कहा। बच्चे ने कहा कि पापा के आने के बाद ठेला हटा लेंगे। उसके बाद सिपाहियों ने बच्चे की इतनी बुरी तरह पिटाई कर दी कि बच्चे का हाथ सूज गया। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शेयर कर भाजपा सरकार पर निशाना साधा है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्विटर पर वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “इस आपातकाल में बहुत सारे बच्चे अनाथ हो गये हैं और दर-दर भटकने पर मजबूर हैं. प्रदेश में भाजपा सरकार ऐसी परिस्थितियों में भी उन बच्चों तक को प्रताड़ित कर रही है, जो ‘आत्मनिर्भर’ बनकर दो वक़्त की रोटी कमाने की कोशिश कर रहे हैं. काश बच्चों का दर्द समझनेवाले दयावान सत्ता में होते।”

मीडिया में छपी खबरों के अनुसार बरेली के जगतपुर में सिंधुनगर कॉलोनी के सामने उमेश गुप्ता फल का ठेला लगाते हैं उस दिन अपने बेटे हर्ष को बैठाकर वो नहाने चले गए। तभी चीता मोबाइल के सिपाही विपिन व आशीष ने डंडा दिखाते हुए ठेला हटाने के लिए हर्ष ने कहा कि पापा आ जाएंगे तो ठेला हटा लेंगे। इसके बाद सिपाही ने बच्चे की बेरहमी से पिटाई कर दी इससे बच्चे का हाथ सूज गया।

Check Also

वाराणसी: मास्क के लिए टोकने पर भाजपा नेता और बेटों ने दरोगा-सिपाहियों को पीटा

वाराणसी: ऐसा लग रहा है जैसे पुलिस का डर ही लोगों के जेहन से खत्म …