UPDATE ममताvsCBI : CBI की याचिका पर CJI की चेतावनी, अगर पुलिस कमिश्‍नर ने सबूत मिटाये तो होगा…..

0
356
photo credit: ANI
Loading...

पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी का धर्मतल्ला के समीप मेट्रो चैनल के पास ‘संविधान बचाओ’ सत्‍याग्रह आज 4 फरवरी को भी जारी है। वही सीबीआई कोलकाता पुलिस के खिलाफ इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। वही सुप्रीम कोर्ट ने शारदा चिटफंड मामले में कोलकाता पुलिस अफसरों के खिलाफ अवमानना और इलेक्ट्रॉनिक सबूत मिटाने के आरोप लगाने संबंधी याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करेगा।

सोमवार को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, “अगर कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर ने सबूत नष्‍ट करने की बात सोची तो हम ऐसी कार्रवाई करेंगे कि उन्‍हें अफसोस होगा।” कोर्ट ने कहा की शारदा चिटफंड मामले में सभी सबूतों, सामग्री को शपथपत्र के मध्यस्थ से पेश किया जाए। वही सीबीआई ने यह भी दावा किया है की पोंजी घोटालों मामले में उसकी जाँच में कोलकाता पुलिस और पश्चिम बंगाल की सरकार व्यवधान पैदा कर रही है।

चिटफंड घोटालों के सिलसिले में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के खिलाफ पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी संविधान बचाओ’ सत्‍याग्रह धरने पर बैठी हैं। मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने जोर देकर कहा की केंद्र की मोदी सरकार ‘‘संविधान और संघीय ढांचे’’ का गला घोंट दिया।

3 फ़रवरी को पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटालों के सिलसिले में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के लिए पहुँची सीबीआई टीम को राजीव कुमार के आवास में वहाँ तैनात कर्मचारियों ने रोकते हुए गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि, बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

वही धरने पर बैठने से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रेस वार्ता में कहा, “कोलकाता पुलिस प्रमुख के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई राजनीतिक प्रतिशोध वाली है। प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पश्चिम बंगाल में ‘तख्तापलट’ की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि तृणमूल कांग्रेस ने यहां विपक्ष की रैली का आयोजन किया था। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर सीबीआई को निर्देश दे रहे हैं। कानून-व्यवस्था राज्य का मामला है, हम क्यों आपको (सीबीआई) सब कुछ दे दें। मैं संविधान की रक्षा के लिए आज रात ‘धरने’ पर बैठूंगी और इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन करूंगी।”

Loading...