CAA पर भारत के खिलाफ हुआ अमेरिका कहा, मुस्लिम मताधिकार से हो…

भारत में चल रहे कुछ आंतरिक मामलों में कई देशों ने दखल दिया है। जिनमे मलेशिया, तुर्की, ईरान के बाद अब एक अमेरिकी संस्था का नाम भी जुड़ गया है। दरअसल अमेरिकी संगठन अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग (यूएससीआईआरएफ) ने भारत के मामले में हस्तक्षेप करने की कोशिश की है।

दरअसल अमेरिकी कांग्रेस द्वारा गठित संघीय अमेरिकी संस्था अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग (यूएससीआईआरएफ) दवारा विदेशो में धार्मिक स्वतंत्रता के हनन की निगरानी की जाती है। अब इस संस्था ने भारत के नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर कहा है कि, इससे भारतीय मुस्लिमो का मताधिकार छिन सकता है। इस संस्था ने बुधवार को बैठक कि जिसमें भारत के नागरिकता कानून और रोहिंग्या मुसलमान के मुद्दे पर चर्चा हुई। इस बैठक का मकसद इन मुद्दों के प्रति अमेरिकी सरकार के लिए नीतिगत फैसलों की सिफारिश करना भी है।

भारत ने अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग (यूएससीआईआरएफ) और अन्य व्यक्तियों द्वारा कि जाने वाली टिप्पणी को गलत, गुमराह करने वाला और राजनीतिक रंग से रंगी हुई बताया गया है। भारत ने कड़े रुख में स्पष्ट किया कि यह भारत का आंतरिक मसला है जिसमें किसी को दखल नहीं देना चाहिए।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …