image by twitter

जो 20 सालों में नहीं हुआ वह लॉकडाउन से हो गया, पूरी तरह स्वच्छ हो गया भारत, नासा ने जारी की तस्वीरें

कोरोना संकट के कारण पूरे देश में लगाए गए लॉकडाउन से जहां एक तरह देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा है, वहीं दूसरी ओर देश प्रदूषण मुक्त हो चूका है। नदियां स्वच्छ हो रही हैं, हिमालय जालंधर से दिखाई दे रहा है। हरिद्वार में गंगा का पानी पीने के लायक हो गया है। मौजूदा वक़्त में लॉकडाउन के करण पूरा देश साफ हवा में सांस ले रहा है। इसकी पुष्टि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा दवारा भी की गई है।

नासा की अर्थ ऑब्जरवेटरी दवारा भारत की पिछले चार सालों की तस्वीरें जारी की गई हैं, जिसमें यह बताया है कि, कैसे प्रदूषण का स्तर पूरे देश में कम हो गया है। लॉकडाउन के चलते वाहनों की आवाजाही ना के बराबर है, अधिकतर फैक्ट्रियां बंद हैं।लोग घरों से बाहर जरूरी काम के लिए ही जा रहे हैं। एक तरफ जहां लॉकडाउन से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिल रही है, वहीं दूसरी ओर पर्यावरण पर भी असर देखने को मिल रहा है। देश में एयरोसोल की मात्रा बेहद कम हो गई है, नासा की अर्थ ऑब्जरवेटरी की टीम ने इसपर अध्ययन किया है।

आजतक में छपी ख़बर के अनुसार अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने ये तस्वीरें मॉडरेट रिजोल्यूशन इमेजिंग स्पेक्ट्रोरेडियोमीटर (MODIS) टेरा सैटेलाइट से ली हैं। लॉकडाउन के चलते प्रदूषण का लेवल तेजी से नीचे आया है, भारत में प्रदूषण की समस्या जैसे खत्म सी हो गई है, इस पर नासा ने भी सैटेलाइट इमेज जारी कर अपनी मुहर लगा दी है। नासा दवारा कहा गया है कि, भारत में प्रदूषण का स्तर कम हुआ है. भारत में 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है, यहां रहने वाले लगभग 130 करोड़ लोग अपने घरों में हैं।

आपको बता दें कि गंगा के किनारे बसा हुआ देश का हिस्सा पूरी तरह से साफ हो गया है। गंगा के किनारे बसे शहरों के ऊपर 20 साल से जो धुंधला आसमान दिखता था, जो एयरोसोल के घने बादल दिखते थे, आज वो लॉकडाउन की वजह से साफ हो गए हैं।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …