World Heritage Day 2020: जानिए कब हुई थी शुरुआत, क्या है इसके पीछे का मकसद, लेकिन इस बार कोरोना…..

आज 18 अप्रैल को पूरी दुनिया विश्व धरोहर दिवस मनाती है। क्या आपको मालूम है की केवल भारत से यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज वेबसाइट में 37 धरोहर शामिल है। इस दिन की शुरुआत सन 1982 में की गयी थी। लेकिन यूनेस्को ने विश्व धरोहर दिवस को 1983 में मान्यता दी थी। लेकिन इस बार कोरोना की वजह से पुरे देश में लॉकडाउन किया गया है। इस बार विश्व धरोहर को देखने की चाहत रखने वालो को निराशा ही हाथ लगेगी।

आपको बतादे की यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज वेबसाइट में केवल भारत से विश्व धरोहर में ताजमहल, लाल किला, जयपुर जंतर-मंतर, अजंता-ऐलोरो की गुफाएं, हंपी जैसी महत्वपूर्ण जगहें शामिल है।

आज की सबसे खास बात है की आज के दिन भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग विश्व धरोहर दिवस के उपलक्ष में देश में ऐतिहासिक स्मारकों को घूमने का कोई शुल्क नहीं वसूला जाता है। जिसमे ताजमहल, लाल किला, क़ुतुब मीनार, हुमायूं का मकबरा समेत सभी प्राचीन धरोहर शामिल है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …