विधायक खरीद-फरोख्त में फंसे येदियुरप्पा, इस्तीफे की उठ रही माँग

0
91
Loading...

कर्नाटक: कर्नाटक की राजनीति गलियारों में हलचल चल रही है। क्यूंकि बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने जेडीएस से मुलाकात कर विधायकों की खरीद-फरोख्त की बात को स्वीकार किया है। जनसत्ता के अनुसार, बीएस येदियुरप्पा ने रविवार को हुबली स्थित पार्टी दफ्तर में माना की वही 7 फरवरी को जेडीएस विधायक नागनगौड़ा कंदाकुर के बेटे शरनगौड़ा से मिले थे। और बीजेपी में शामिल होने पर उनके पिता की संभावनाओं पर बातचीत की थी।

वही इस मुलाकात को लेकर कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी ने एक ऑडियो जारी किया था। जिसमे बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा शरनगौड़ा से कथित रूप से बातचीत में जेडीएस विधायक को खरीद-फरोख्त की कोशिश कर रहे हैं।

वही इस ऑडियो के सामने आने पर येदियुरप्पा ने इसे ‘फर्जी’ बताकर कहा था की कुमारस्वामी आवाज़ रेकॉर्ड करने में उम्दा है। येदियुरप्पा ने ये भी कहा था की अगर ये बात सच हो जाती है तो वह पार्टी पद से इस्तीफा दे देंगे। लेकिन, रविवार को हुबली स्थित पार्टी दफ्तर में येदियुरप्पा ने कहा, “हां, यह सही है कि रात साढ़े 12 बजे शरनगौड़ा (जेडीएस विधायक के बेटे) मुझसे मिलने देवदुर्गा स्थित मेरे गेस्टहाउस में आए थे। मैं यहीं ठहरा हुआ था। इस दौरान हमने कुछ बातचीत की। शरनगौड़ा को मेरा स्टिंग कराने के लिए भेजकर कुमारस्वामी ने दोयम दर्जे की राजनीति की है।” हालाँकि कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी इस ऑडियो रिकॉर्डिंग में अपनी भूमिका से इंकार किया है। शरनगौड़ा ने खुद येदियुरप्पा से बातचीत की रिकॉर्डिंग की थी। जिसकी बाद में मुझे सुचना दी गई।

वही कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शुक्रवार को इस मामले को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी जिसमे जेडीएस विधायक के बेटे शरनगौड़ा भी मौजूद थे। जिसमे शरनगौड़ा ने कहा की उन्होंने खुद येदियुरप्पा के साथ हुई बातचीत को रिकॉर्ड किया था। जिसे बाद में कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को सौंप दिया था। जिसमे मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने टेप के हवाले से बताया की येदियुरप्पा जेडीएस नेता को 25 करोड़ रुपये तथा इलेक्शन फंड देने की बात कही थी। जो बीजेपी पार्टी के आला कमान के कहने पर किया गया था।

येदियुरप्पा ने शुक्रवार को ही ऑडियो टेप को फर्जी बताकर कहा था की, “मैंने किसी से मुलाकात नहीं की है। यह गठबंधन में हुए गलत कामों को छिपाने के लिए सरकार द्वारा की गई करतूत है। कुमारस्वामी आवाज को रिकॉर्ड कराने में माहिर हैं और उनके आरोप बेबुनियाद हैं।”

वही येदियुरप्पा द्वारा इस बात को मानते ही कांग्रेस हमलावर हो गई है। जिसको लेकर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने रविवार को कहा कि येदियुरप्पा को अभी अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। क्यूंकि उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है ऑडियो टेप में उनकी आवाज है। इसी बीच कोलार क्षेत्र से जेडीएस विधायक ने भी बीजेपी द्वारा 30 करोड़ देने की बात कही। उनका आरोप है कि बीजेपी ने उन्हें 5 करोड़ रूपए एडवांस में दे भी दिए थे। जिसे वापस करते हुए जेडीएस विधायक ने इसकी जानकारी मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को दी थी।

Loading...