जैनुल आबेदीन ने कहा, मुस्लिम अपनी देश भक्ति का सुबूत दे, शबें बारात को अपने घरों में ही मनाए, क़ब्रिस्तान ना जाए

सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के वंशज एवं वंशानुगत सज्जादानशीन दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने भारत के मुस्लिम से अपील की है कि वह 9 अप्रेल को मानाई जाने वाली शबें बारात को अपने घरों में ही मनाए और क़ब्रिस्तान बिलकुल ना जाए।

उन्होंने कहा है कि, शबें बारात के दिन अपने पूर्वजों की मज़ार पर ना जाए नही दरगाहों में और ना ही मस्जिदो में जाकर इबादत करे सब अपने अपने घरो में रहकर ही इबादतें करे और अपने पूर्वजों की मग़फ़िरत की दुआए करे।

उन्होंने कहा है कि आज पूरा देश कोरोंना वाइरस की वबा से लड़ रहा है और केंद्र व राज्य सरकार हम सब को इस मौलिक बीमारी से बचाने का हर सम्भव प्रयास कर रही है। इस बीमारी से बचने का एक ही उपाए है की हम केंद्र और राज्य सरकार की advisory का सख़्ती से पालन करे और अपने अपने ज़िला प्रशासन का साहियोंग करे तभी हम इस मौलिक बीमारी से जीत सकेगे ।

सभी धर्म के लोग अपने अपने धार्मिक पर्व को अपने ही घर में रहकर ही माना रहे है और कोई किसी प्रकार की शिकायत य नाराज़गी ज़ाहीर नही कर रहा है हम मुसलमानो का भी यही फ़र्ज़ बनता है की इस समय धर्म और जाती से ऊपर उठ कर इस महामारी के मसले को गंभीरता से ले और अपनी देश भक्ति का सुबूत दे हम खुद को अपने परिवार को अपने समाज की और अपने देश को इस मौलिक बीमारी से बचाने में अपना योगदान करंगे वही हमारी असली देश भक्ति होगी ।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …