पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों को बताया कोरोना पर काबू पाने का तरीका, ज्यादा से ज्यादा लोगों के वैक्सीनेशन के लिए कहा- 11 से 14 अप्रैल के बीच मनाएं टीका उत्सव

0


पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों को बताया कोरोना पर काबू पाने का तरीका, ज्यादा से ज्यादा लोगों के वैक्सीनेशन के लिए कहा- 11 से 14 अप्रैल के बीच मनाएं टीका उत्सव

पीएम मोदी (Photo Credits: ANI)

देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते नए मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को मुख्यमंत्रियों (Chief Ministers) के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की. बैठक के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज की समीक्षा में कुछ बातें हमारे सामने स्पष्ट हैं, उन पर हमें विशेष ध्यान देने की जरूरत है. पहला- देश फर्स्ट वेव (First Wave) के समय की पीक को क्रॉस कर चुका है, और इस बार ये ग्रोथ रेट पहले से भी ज्यादा तेज है. दूसरा- महाराष्ट्र (Maharashtra), छत्तीसगढ़, पंजाब, मध्य प्रदेश और गुजरात समेत कई राज्य फर्स्ट वेव की पीक को भी क्रॉस कर चुके हैं. कुछ और राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं. हम सबके लिए ये चिंता का विषय है. तीसरा- इस बार लोग पहले की अपेक्षा बहुत अधिक कैजुअल हो गए हैं. अधिकतर राज्यों में प्रशासन भी नजर आ रहा है. ऐसे में कोरोना मामलों की इस अचानक बढ़ोतरी ने मुश्किलें पैदा की हैं. यह भी पढ़ें- VIDEO: पीएम मोदी ने AIIMS में ली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, ट्वीट कर देशवासियों से कही ये बड़ी बात.

पीएम मोदी ने कहा कि इन तमाम चुनौतियों के बावजूद, हमारे पास पहले की अपेक्षा बेहतर अनुभव है, संसाधन हैं, और वैक्सीन भी है. जनभागीदारी के साथ-साथ हमारे परिश्रमी डॉक्टर्स और हेल्थ-केयर स्टाफ ने स्थिति को संभालने में बहुत मदद की है और आज भी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ‘टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट’, कोविड उचित व्यवहारऔर कोविड मैनेजमेंट, इन्हीं चीजों पर हमें बल देना है.

11-14 अप्रैल के बीच मनाएं टीका उत्सव-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 11 अप्रैल, ज्योतिबा फुले जी की जन्म जयंति है और 14 अप्रैल, बाबा साहेब की जन्म जयंति है, उस बीच हम सभी ‘टीका उत्सव’ मनाएं. उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास यही होना चाहिए कि इस टीका उत्सव में हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेट करें. मैं देश के युवाओं से भी आग्रह करूंगा कि आप अपने आसपास जो भी व्यक्ति 45 साल के ऊपर के हैं, उन्हें वैक्सीन लगवाने में हर संभव मदद करें. वैक्सीनेशन के साथ साथ हमें ये भी ध्यान रखना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद की लापरवाही न बढ़े. हमें लोगों को ये बार-बार बताना होगा कि वैक्सीन लगने के बाद भी मास्क और सावधानी जरूरी है.

नाइट कर्फ्यू की जगह कोरोना कर्फ्यू का शब्द इस्तेमाल करें-

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पास पहले के मुताबिक कोरोना से निपटने के लिए अच्छे संसाधन है. अब हमारे पास वैक्सीन भी है. अब हमारा बल माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर होना चाहिए. नाइट कर्फ्यू की जगह कोरोना कर्फ्यू का शब्द इस्तेमाल करे, इससे सजगता बनी रहती है.

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को भारत में एक दिन में कोविड-19 के 1,26,789 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,29,28,574 हो गई. वहीं, उपचाराधीन मामले भी नौ लाख के पार चले गए हैं. महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, केरल और पंजाब में कोविड-19 के रोजाना मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और देश में सामने आए संक्रमण के 1,26,789 नए मामलों में से 84.21 प्रतिशत मामले इन 10 राज्यों में हैं.





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।