Sam Harper given out for obstracting the fielder by Third umpire in match between Victoria vs South Australia in Marsh Cup

0


क्रिकेट के मैदान पर आपने बल्लेबाजों को कई तरह से आउट होते हुए देखा होगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट मार्श कप में थर्ड अंपायर ने बल्लेबाज को जिस अनोखे तरीके से आउट करार दिया उसको देखकर शायद आपको यकीन ना हो। विक्टोरिया और साउथ ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए मुकाबले में सैम हार्पर को फील्डर द्वारा थ्रो करने के दौरान विकेटों के सामने पाए जाने पर थर्ड अंपायर ने पवेलियन का रास्ता दिखाया। थर्ड अंपायर के इस फैसले ने क्रिकेट के जानकारों के बीच एक नई बहस को जन्म दे दिया है। 

 

दरअसल, यह घटना हुई विक्टोरिया टीम की बल्लेबाजी के समय में जब सैम हार्पर ने डेन वॉरेल की गेंद को सामने की तरफ खेला और गेंदबाज ने अपने फॉलोथ्रू में बॉल को पकड़कर विकेटों की तरफ फेंका। क्रीज से आगे खड़े हार्पर ने अपना विकेट का बचाव करने के लिए स्टंप के सामने आ गए और गेंद उनके पैड पर जाकर लगी, जिसके बाद साउथ ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान ट्रेविड हेड समेत सभी खिलाड़ियों ने इसको लेकर अपील की। ऑन फील्ड अंपायर के बीच हुई काफी देर तक चर्चा के बाद फैसले को थर्ड अंपायर के पास भेजा गया, जहां रिप्ले में देखा गया कि हार्पर बॉल आते वक्त स्टंप के एकदम सामने खड़े थे, जिसके चलते उनको आउट करार दिया गया। 

ODI सीरीज जीत WC सुपर लीग में दूसरे नंबर पर पहुंचा PAK, भारत को

हालांकि, क्रिकेट में यह पहला मौका नहीं है, जब किसी बल्लेबाज को इस तरह से आउट करार दिया गया हो। इससे पहले साल 2006 में भारत और पाकिस्तान के बीच खेली गई वनडे सीरीज के दौरान इंजमाम उल हक को सुरेश रैना के थ्रो को बैट से मारने के चलते आउट करार दिया गया था। नियमों के मुताबिक भी अगर कोई बल्लेबाज जानबूझकर फील्डिंग में बाधा डालते हुए पाया जाता है, तो उसको आउट दिया जाना चाहिए।
 





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।